Jo Insaan Rote Rote Gusse Me Kuch

Jo Insaan Rote Rote Gusse Me Kuch

जो इंसान रोते रोते गुस्से में कुछ बोल देता है
तो वो सच्चा होता है क्यूंकि गुस्सा और रोना
इंसान को सच बोलने पर मजबूर कर देता है


Jo Insaan Rote Rote Gusse Me Kuch Bol Deta Hai
To Wo Sacha Hota Hai Kyunki Gussa Or Rona
Insaan Ko Sach Bolne Par Majboor Kar Deta Hai

Trending

More Posts